प्यार से इतनी बैइजती होने दि है खुद की , कि अब तो बैइजती भि रुख मोड के केह्ती है,
माफ कर दे मुजे  ए इंसान तु मेरे काम की चिज नहिं है,..!!

– अभिजीत

Advertisements